हरियाणा: छोटे से कस्बे की छोरी बनी भारतीय सेना में कैप्टन

हरियाणा: छोटे से कस्बे की छोरी बनी भारतीय सेना में कैप्टन

हरियाणा के कैथल में पड़ने वाले छोटे से कस्बे कलायत की बेटी डॉ. पायल छाबड़ा को एक बड़ी ज़िम्मेवारी मिलने जा रही हैं। पायल छाबड़ा की उम्र 29 वर्ष हैं तथा वह कलायत की रहने वाली हैं। पायल ने भारतीय सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा में 18वीं रैंक हासिल की है। अब डॉ पायल छाबड़ा भारतीय सेना में बतौर सर्जन अपनी सेवाएँ देंगी। इन दिनों वे करनाल में राजकीय कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग में बतौर सीनियर रेजिडेंट तैनात हैं। आपको बता दें कि देशभर की 30 बेटियों को भारतीय सेना में महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति मिली है।

डॉ पायल छाबड़ा के पिता का नाम डॉ. राजेंद्र कुमार और माता का नाम डॉ. वीना है। बता दें कि डॉ. पायल छाबड़ा के बड़े भाई डॉ संजीव छाबड़ा और भाभी डॉ. सलोनी हैं। पायल के दादा स्वर्गीय चमन लाल भी भारतीय रेलवे में अधिकारी रहे है। वहीं अब पायल के घर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। पायल अपनी इस उपलब्धि से बेहद खुश हैं। पायल की खुशी में पूरा परिवार शामिल हैं। पायल छाबड़ा ने अपनी इस सफलता का श्रेय परिजनों को देते हुए कहती हैं कि परिजनों ने उन्हें प्रोत्साहित किया, तभी वे आज इस मुकाम पर पहुंची हैं।