किसान आंदोलन के दौरान हुई युवक की मृत्यु – 3 बेटियों के सर से उठ गया बाप का साया

किसान आंदोलन के दौरान हुई युवक की मृत्यु – 3 बेटियों के सर से उठ गया बाप का साया

  12 Feb 2021

दिल्ली में किसान आंदोलन को 80 दिनों के लगभग हो गये हैं। इस आंदोलन में अबतक कई किसान अपनी जान गँवा चुके हैं। किसान आंदोलन से सरकार को कोई फर्क पड़े या ना पड़ें, लेकिन आंदोलन में जान गँवा रहें किसानों के परिवारों को बहुत फर्क पड़ रहा हैं। क्योंकि आंदोलन में लगभग वो लोग आए हैं जो परिवार के मुखिया हैं, जिनपर पूरा परिवार निर्भर हैं। और 1 भी जान जाने पर पूरा परिवार बिखर रहा हैं।

ऐसे ही एक किसान अजय की जान किसान आंदोलन के दौरान चली गयी। बता दें की किसान अजय की मौत किसान आंदोलन में शामिल होने के दौरान बीते 8 दिसंबर को हार्ट अटैक आने से हुई थी। अजय की मौत के बाद उसके परिवार पर दुखों का ऐसा पहाड़ टूटा है कि जिसका बोझ न उठाना मुश्किल हैं। किसान अजय हरियाणा के गोहाना के गांव बरोदा के रहने वाला था।

किसान अजय की उम्र महज 32 साल थी। अजय की लव मैरिज हुई थी, वह हिमाचल से प्रेम बंधन में बांध जीवनसंगिनी बनाकर लाया था। दोनों की तीन छोटी-छोटी बेटियां भी हैं, जिनके सर से पिता का साया उठ गया है। अजय गांव में ही एक एकड़ जमीन में खेती करता था। उसी से अपना और अपने परिवार का गुजारा चलाता था।

अजय के परिवार ने मीडिया से बातचीत में बताया की अजय को शादी से पहले पहलवानी का शौक़ था। इसी शौक़ के कारण अजय हरियाणा, पंजाब व हिमाचल में होने वाले दंगलों में ज़ाया करता था। इसी दौरान अजय की पहचान हिमाचल की रहने वाली भावना से हुई थी। जान पहचान प्रेम में बदल गई और दोनों ने लव मैरिज की। 14 साल पहले अजय भावना को हिमाचल से  जीवनसंगिनी बनाकर अपने घर ले आया। उनके घर में तीन बेटियां ने जन्म लिया, जिनसे वह अजय बहुत प्यार करता था। अजय अपनी बेटियों पहलवान व अफसर बनाना चाहता था। घर में सबकुछ अच्छा चल रहा था।