इतिहास गवाह हैं – आज के दिन ही भारत में ओलंपिक की हॉकी स्पर्धा में आखिरी स्वर्ण पदक आया था
इतिहास गवाह हैं – आज के दिन ही भारत में ओलंपिक की हॉकी स्पर्धा में आखिरी स्वर्ण पदक आया था

इतिहास गवाह हैं – आज के दिन ही भारत में ओलंपिक की हॉकी स्पर्धा में आखिरी स्वर्ण पदक आया था

  29 Jul 2020  

आज 29 जुलाई है. यह दिन भारत के लिए कभी ना भूलने वाला दिन है. क्यूंकि यह दिन हमे भारतीय हॉकी के स्वर्णिम युग की याद दिलाता है. एक समय ऐसा भी था जब पूरे एशिया में भारत की हॉकी का डंका बजा करता था. भारतीय हॉकी टीम ने साल 1928 से 1956 तक चलने वाली ओलंपिक खेलों में लगातार 6 बार स्वर्ण पदक जीत कर देश का गर्व बढ़ाया था. इस समय को भारत का स्वर्णिम युग भी कहा जाता है. इस समय के बाद भारत की हॉकी टीम का सूरज डूबने लगा और एस्ट्रो टर्फ पर ताकत के दम पर खेली जाने वाली तेज तर्रार हाकी ने उसकी जगह ले ली.

आपकी जानकरी के लिए आपको बता दें कि आखिरी बार 1980 को आज ही के दिन भारतीय हॉकी टीम ने आखिरी बार गोल्ड मेडल जीता था. इसलिए 29 जुलाई का दिन इतिहास के पन्नों में लिखा जा चुका है.

29 जुलाई को होने वाली अन्य घटनाएं

  1. साल 1567 में आज ही के दिन जेम्स VI को स्कॉटलैंड का राजा नियुक्त किया गया था
  2. साल 1748 में इस दिन ईस्ट इंडिया कंपनी की मदद करने के लिए ब्रिटिश सेना भारत पहुंची थी
  3. आज ही के दिन साल 1911 में मोहन बगान ने पहली बार आईएफ शील्ड जीत का देश का गर्व बढाया था
  4. 29 जुलाई 1937 को जापानी सेना ने चीन के बीजिंग और एक अन्य शहर पर कब्ज़ा करके उसे अपना बनाया था
  5. 29 जुलाई 1949 को ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कारपोरेशन रेडिओ पर प्रसारण शुरू किया गया था.

आपको बता दें कि इसके इलावा भी 29 जुलाई को कईं तरह की घटनाएं घटित हुई हैं जो आज भी इतिहास के पन्नों में सुनहरी अक्षरों में अपनी छाप छोडती हैं.