“बता मेरे यार सुदामा” की विधि कैसे हुई इतनी फेमस ?

“बता मेरे यार सुदामा” की विधि कैसे हुई इतनी फेमस ?

  04 Mar 2021  

आज संसार क्रांति हरियाणा की फ़ेमस सिंगर विधि देशवाल से आपको रूबरू कराएगा। विधि देशवाल का म्यूज़िक सफ़र कैसे शुरू हुआ ? और कैसे उसके गाने “बता मेरे यार सुदामा” नें पूरे विश्व में अपनी छाप छोड़ दी। शुरुआत करते हैं विधि के गाँव से विधि देशवाल हरियाणा के रोहतक के गाँव घिलौर कलां की रहने वाली हैं। पिता का नाम सतीश देशवाल व माता का नाम संतोष देशवाल हैं।

कैसे हुई शुरुआत

विधि देशवाल जोकी हरियाणा की जानी मानी सिंगर बन गई है। विधि देशवाल के संगीत सफर की शुरुआत तीसरी कक्षा से हुई थी। जब विधि तीसरी कक्षा में थी तब उनके स्कूल में सुनीला मैडम थी, जिन्होंने विधि को श्रीमद् भागवत गीता के कुछ श्लोक गाने के लिए कहा और तब से ही विधि को पूरा स्कूल जानने लगा था। उसके बाद जब विधि 7वीं क्लास में हुई तो उनके स्कूल में सोमेश जांगड़ा नाम के म्यूज़िक अध्यापक आए। जिन्होंने विधि और कुछ बच्चों को स्कूल में सुबह की प्रार्थना के लिए चुना। विधि और सभी बच्चे रोज स्कूल में प्रार्थना गाते।

एक दिन अध्यापक सोमेश जाँगडा ने विधि को कुछ गाने के लिए कहा था विधि ने अपना बचपन का पसंदीदा गाना “बता मेरे यार सुदामा रै, भाई घणे दिना मैं आया” को गाया तो सब हैरान रह गये। क्योंकि ये गाना विधि का सबसे चहिता गाना था और विधि इसे गुनगुनाती रहती थी। विधि को अध्यापक सोमेश जाँगडा ने यह गाना रोज़ाना प्रार्थना में गाने के लिए कहा और सभी बच्चे प्रार्थना ने विधि व टीम के साथ “बता मेरे यार सुदामा रै, भाई घणे दिना मैं आया” को गाने लगे।

1 जनवरी 2017 को विधि ने यह गाना रोहतक की एमडीयू यूनिवर्सिटी (MDU UNIVERSITY) में गाया और एक कम्पनी ने उसके गाने को सोशल मीडिया हैंडल पर डाल दिया। देखते-देखते विधि का गाना इतना वाईरल हुआ की विधि पूरे हरियाणा में एक अच्छी गायिका के रूप में उभर कर सामने आयी। अगर इस गाने के व्यूज़ की बात करें तो लगभग 20 करोड़ लोगों ने विधि के गाने को सुना व पसंद किया हैं।

विधि ने अब हालहि में एक फ़िल्म में भी काम किया हैं। जिसका नाम “छोरियाँ छोरों से कम नहीं होती” हैं। इस फ़िल्म में विधि ने 1 गाना गाया हैं व पूरी फ़िल्म में ऐक्टिंग की हैं। विधि की इस फ़िल्म को पब्लिक नें भी पसंद किया हैं।

जब संसार क्रांति टीम से नवीन नरवाना ने विधि से “बता मेरे यार सुदामा” गाने की टीम के बारे में पूछा गया तो विधि ने बताया की उसकी बात आज भी पूरी टीम से होती हैं। लेकिन 12वीं कक्षा के बाद सब अलग-अलग जगहों पर पढ़ने लगे तो उन्मे दूरियाँ आ गयी हैं। फ़िलहाल विधि देशवाल दिल्ली यूनिवर्सिटी में म्यूज़िक ने बीए कर रही हैं। विधि का सपना हैं की वह बॉलीवुड में जाकर अपने परिवार व हरियाणा का नाम रोशन करें।

विधि को इन मुख्य लोगों द्वारा सम्मानित किया गया हैं।
1. भारत के राष्ट्रपति – श्री प्रणव मुखर्जी 2018 में
2. भारत के उपराष्ट्रपति – श्री एम। वेंकैया नायडू, 2019
3. हरियाणा के गवर्नर – श्री कप्तान सिंह सोलंकी, 2018
4. उत्तर प्रदेश के गवर्नर – श्री राम नाईक
5. गुजरात के गवर्नर – श्री ओम प्रकाश कोहली
6. हिमाचल प्रदेश के गवर्नर – श्री आचार्य देवव्रत
7. राजस्थान के गवर्नर – श्री कल्याण सिंह
8. भारत के गृह मंत्री – श्री राजनाथ सिंह
9. भारत के शिक्षा मंत्री – श्री रमेश पोखरियाल
10. भारत के वाणिज्य मंत्री – श्री रमेश प्रभु, 2018

मुख्य पुरस्कार —-
1. भारत गौरव पुरस्कार दिल्ली ताज होटल।
2. यूथ आइकन अवार्ड, देहरादून
3. सिक्स सिग्मा हेल्थ केयर एक्सिलेंस अवार्ड 2019, सीडीएस जनरल बिपिन रावत द्वारा दिल्ली।
4. AICRO अवार्ड 2018, नई दिल्ली
5. प्रधानमन्त्री नवीन शिक्षण कार्यक्रम डीएचआरयूवी में भाग लिया।
6. प्रसिद्ध निर्देशक श्री सतीश कौशिक द्वारा ‘छोरियाँ छोरों से कम न होति’ मूवी में एक प्रमुख भूमिका निभाई
7.हरियाणा गौरव अवार्ड भारत समाचार 2019 के माध्यम से हरियाणा के चीफ मिनिस्टर द्वारा