मॉडर्ना कम्पनी की वैक्‍सीन ने कोरोना वायरस को रोका, बंदरों में वैक्सीन पूरी असरदार
मॉडर्ना कम्पनी की वैक्‍सीन ने कोरोना वायरस को रोका, बंदरों में वैक्सीन पूरी असरदार

मॉडर्ना कम्पनी की वैक्‍सीन ने कोरोना वायरस को रोका, बंदरों में वैक्सीन पूरी असरदार

  29 Jul 2020  

कोरोना वायरस ने देशभर में कोहराम मचाया हुआ है. लगभग हर देश के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन बनाने का प्रयास कर रहे हैं. वहीँ इस बार इसकी वैक्सीन को लेकर बड़ी उम्मीद हाथ लगी है. इस महामारी को लेकर मॉडर्ना की वैक्सीन का ट्रायल हाल ही में बंदरों पर किया गया था जोकि पूरी तरह से कारगर साबित हुआ है. हाल ही में न्यू इंग्लैंड के जर्नल ऑफ़ मेडिसन में प्रकाशित एक ख़बर में कहा गया है कि मॉडर्ना बायोटेक फर्म ने कोविड-19 वैक्सीन का बंदरों पर ट्रायल ले कर एक मजबूत इम्यून रिस्पोंस विकसित किया है. इस वैक्सीन की मदद से बंदरों को नाक और फेफडो में कोरोना वायरस का प्रभाव को रोकने के बारे में पता चला है.

रिसर्च के अनुसार वैक्सीन ने बंदर के नाक में कोरोना को कॉपी करने से रोका है. इसलिए यह माना जा रह है कि इस वैक्सीन से संक्रमण को एक से दूसरे तक जाने से रोका जा सकता है. इससे पहल;इ जब ऑक्स्फ़र्ड यूनिवर्सिटी में बंदरों पर ट्रायल अंजाम दिया गया था तो ऐसे परिणाम सामने नहीं आए थे हालाँकि उस वैक्सीन ने इस वायरस को जानवरों में प्रवेश करने से रोक दिया था.

बता दें कि मॉडर्ना एनिमल स्‍टडी के दौरान 8 बंदरों के तीन समूहों पर इस वैक्सीन का अध्ययन किया गया था. इन्हें 10 माइक्रोग्राम और 100 माइक्रोग्राम की डोज़ दी गई थी. इन बंदरों ने वैक्सीन के चलते हाई लेवल के एंटीबॉडी का निर्माण किया था जोकि रक्त केशिकाओं पर सीधे तौर पर वायरस के हमले को रोकने में सक्षम हैं. हालाँकि इन बंदरों में से कुछ को प्लेसीबो वाला डोज़ भी दिया गया था, लेकिन इन सब में बाद में वायरस की मौजदगी पाई गई थी.